पूछताछ के नाम पर पुलिस ने युवक को जलाया, आरोपी दारोगा सस्पेंड

Kanpur News On Facebook

कानपुर में पुलिस ने पूछताछ के नाम पर एक युवक को जलाने का मामला सामने आया है. न्यूज 18 द्वारा यह खबर दिखाए जाने के बाद कानपुर एसएसपी ने आरोपी छाना प्रभारी पर कार्रवाई करते हुए सस्पेंड कर दिया है. साथ ही मामले की जांच सीओ स्वरूप नगर को सौप दिया गया है. दरअसल बिठूर थाना प्रभारी सुधीर पंवार ने हत्या के आरोप में एक युवक को हिरासत में लेकर थर्ड डिग्री का प्रयोग किया. आरोप है कि पुलिस ने उसके गुप्तांग में पेट्रोल और करंट लगाया. इस दौरान आग लग गई और उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया

यहां एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। आरोप है कि, हत्या के एक मामले में पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया। पूछताछ के दौरान दोनों की बेरहमी से पिटाई की गई। तभी एक युवक के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाला गया और करंट लगाने की कोशिश हुई। तभी स्पॉर्किंग से युवक के कपड़ों में आग लग गई। वह झुलस गया। यह देख पुलिस ने दूसरे युवक को भगा दिया। वहीं, पुलिस के अनुसार युवक ने खुद आग लगाई है। 

सोमवार रात पुलिस ने दोनों युवकों को हिरासत में लिया
29 मार्च को बिठूर रेलवे ट्रैक पर निर्मल नाम के शख्स का शव मिला था। बिठूर पुलिस ने सोमवार रात को उन्नाव में रहने वाले दो दोस्तों सोनू और मोनू को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। पुलिस ने देर रात रात सोनू और मोनू से पूछताछ शुरू की। आरोप है कि, पुलिस ने पहले तो दोनों को जमकर पीटा। इसके बाद प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाल कर करंट लगाया गया। 

एसएसपी ने पुलिसकर्मियों का किया बचाव

मंगलवार दोपहर बाद जब यह मामला चर्चा में आया तो पुलिस के आलाधिकारी बचाव में उतर आए। एसएसपी अनंत कुमार ने बताया कि एक हत्या के मामले में सोनू और मोनू को जांच के लिए थाने लाया गया था। पूछताछ से बचने के लिए मोनू ने खुद के कपड़ो में आग लगा ली। जिससे वो गंभीर रूप से झुलस गया है। उसका उपचार कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मोनू के जेब में माचिस पहले से पड़ी थी, तलाशी में इसका बात ध्यान नहीं दिया गया था। 

मीडिया के सामने आया प्रत्यक्षदर्शी

लेकिन जब सोनू निषाद मीडिया के सामने आया और उसने पूरी घटना को बताया तो सीओ कल्यानपुर अजय सिंह हैरान रह गए। सोनू ने बताया कि मैं घर पर सो रहा था तभी दो जीप में पुलिस कर्मी पहुंचे मुझे उठाकर थाने ले आए। थाने में मुझे और मोनू निषाद को जमकर पीटा। उसने बताया कि पुलिस ने मोनू का पैंट उतरवा कर उसके प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाला था। जैसे ही उसके करंट लगाया गया तो उसके कपड़ों में आग लग गई। एसएसपी अनंत कुमार के मुताबिक इस मामले में बिठूर थानाध्यक्ष सुधीर पवार को सस्पेंड कर दिया गया है। इस पूरे प्रकरण की जांच सीओ कल्यानपुर को सौंपी गई है ।

पीड़ित युवक ने बयान की कहानी

वहीं, मोनू निषाद ने बताया कि पुलिस पूछताछ में कह रही थी कि सही बताओ वर्ना गोली मार दूंगा। इसके बाद मुझे और सोनू को पीटने लगे। मेरी पैंट उतरवा दी और पेट्रोल डाल दिया। इसके बाद मेरे आग लग गई। इसके बाद क्या हुआ मुझे कुछ भी याद नहीं है। 

SHARE THIS ARTICLE:
  •   
  •   
  •